अतिभारन और लघुपंथन में अंतर क्या है? Atibharan Aur Laghupanthan Me Antar

लघुपंथन किसे कहते हैं?

किसी परिपथ में प्रवाहित होने वाली धारा का परिमाण निश्चित रहता है जब निश्चित शक्ति से सीमा बढ़ जाती है तो इसे अतिभारण कहते हैं।

लघुपंथन किसे कहते हैं?

जब कभी विद्युतमय और उदासीन तार आपस में सट जाते हैं तो प्रतिरोध का मान शून्य हो जाता है, और अत्यधिक धारा प्रवाहित होने लगता है इसे ही लघुपंथन कहते हैं।

Post a Comment

Please Post Positive Comments & Advice

Previous Post Next Post