अलैंगिक जनन किसे कहते हैं? Alangik Janan Kise Kahte Hai

सभी जीव अपनी जीव की प्रजाति को बनाए रखने के लिए जनन करते है जनन दो प्रकार की होती है जिसमें से एक अलैंगिक जनन है। आप इस पोस्ट में अलैंगिक जनन के बारे में ही पढ़ेगे।

अलैंगिक जनन की परिभाषा

इस प्रकार के जनन में केवल एक ही जीव की आवश्यकता होती है इसमें युग्मक भाग नहीं लेता है। इस प्रकार के जनन में समसूत्री कोशिका का विभाजन होता है।

अलैंगिक जनन में निषेचन की आवश्यकता नहीं होती है। अलैंगिक जनन के बाद जो संतानें पैदा होती है वे अनुवांशिक गुणों में ठीक जनकों के समान होती है। 

जैसे-अबीमा- अमीबा में दो युग्मक की आवश्यकता नहीं होती, अमीबा अपना जनन स्वयं का विभाजन कर करती है

READ ALSO-

अलैंगिक जनन निम्न प्रकार की विधियों से होता है-

  1. मुकुलन
  2. विखंडन
  3. बीजाणु के द्वारा
  4. कायिक प्रवर्धन
  5. पुन:जनन
Chandradeep Kumar

मेरा नाम चन्द्रदीप कुमार है। मैं एक हिन्दी लेखक और www.fastduniya.com का founder हूँ।

Please Post Positive Comments & Advice

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post