प्रत्यय किसे कहते हैं? Pratyay Kise Kahte Hai


प्रत्यय किसे कहते हैं?

वे शब्द जो किसी मूल शब्द के अंत में जुड़कर उस मूल शब्द का अर्थ बदल देते हैं वे प्रत्यय कहलाते हैं।

प्रत्यय के दो भेद होते हैं (Pratyay Ke bhed) 

  1. कृत प्रत्यय 
  2. तद्धित प्रत्यय

प्रत्यय के उदाहरण-

थक+आवट=थकावट
खेल+औना= खिलौना

कृत प्रत्यय

ऐसे तथ्य जो किसी क्रिया के धातु के अंत में लगकर संज्ञा है या विशेषण शब्दों का निर्माण करते हैं कृत प्रत्यय कहलाते हैं इनके प्रयोग से जो नए शब्द बनते हैं कि कृदंत कहलाते हैं।
कृत के पाँच भेद है-
  1. कर्तृ वाचक 
  2. कर्म वाचक 
  3. करण वाचक 
  4. भाव वाचक 
  5. विशेषण वाचक

तद्वित प्रत्यय- 

ऐसे प्रत्यय जो संज्ञा सर्वनाम और विशेषण शब्दों के अंत में लगकर नए शब्द बनाते हैं तद्धित प्रत्यय कहलाते हैं।

तबीयत प्रत्यय के भी 6 भेद होते हैं 
  1. भाव वाचक 
  2. कर्तृ वाचक 
  3. संबंध वाचक 
  4. लघुता वाचक 
  5. विशेषण वाचक 
  6. स्थान सूचक


Post a Comment

Please Post Positive Comments & Advice

Previous Post Next Post