रेक्टिफायर क्या है? रेक्टिफायर किसे कहते हैं? What is Rectifier?

आज हम रेक्टिफायर की बात करेंगे कि रेक्टिफायर क्या है? इसका उपयोग कहाँ होता है? तथा इसका कार्य क्या होता है? सामान्यतः यह हमारे घरों में मौजूद होता है परंतु हमें यह पता नहीं होता। रेक्टिफायर आईटीआई के स्टूडेंट के लिए के छात्रों के लिए आवश्यक है।

रेक्टिफायर किसे कहते है?

एसी को डीसी(AC TO DC) में परिवर्तित करने वाली इलेक्ट्रॉनिक युक्ति को रेक्टिफायर कहते है, और एसी से डीसी में परिवर्तन करने की प्रक्रिया को रेक्टिफिकेशन कहते हैं।

रेक्टिफायर बनाने की दो विधियां है-

  1. हॉफ वेव रेक्टिफायर (Half Wave Rectifier)
  2. फुल वेव रेक्टिफायर ( Full Wave Rectifier)

Half Wave Rectifier

हाफ वेव रेक्टिफायर में ट्रांसफार्मर के आउटपुट सिरे में एक डायोड को संयोजित किया जाता है जिससे अर्ध DC का निर्माण होता है।

Full Wave Rectifier

full Wave Rectifier दो प्रकार के होते है।

1.Centre Tapped Rectifier

फुल वेब रेक्टिफायर रेक्टिफायर की मदद से हम लगभग पूर्ण DC प्राप्त कर सकते हैं इस परिपथ में हम ट्रांसफार्मर के आउटपुट सिरो के दोनो सिरो पर एक-एक डायोड लगाते हैं जिससे ट्रांसफार्मर से और आउटपुट होने वाली दोनों सिरों की फ्रीक्वेसी में परिवर्तित हो जाती है।

2.Bridge Rectifier

फुल वेब के अंदर एक और रेक्टिफायर कनेक्शन होता है जिसका नाम ब्रिज रेक्टिफायर है। इस परिपथ में चार डायोडो का संयोजन होता है जिसमें ट्रांसफार्मर से इनपुट करंट दिया जाता है और यह भी पूर्ण डीसी का निर्माण करता है।

Rectifier बनाने में क्या क्या लगता है?

Rectifier बनाने में हमे ज्यादा चीजों की जरूरत नहीं पड़ती है केवल हमें कुछ(1या 2 या 4) डायोड की आवश्यकता होती है।

Rectifier का उपयोग क्या है?

सामान्यता एसी को डीसी में परिवर्तन करने के लिए रेक्टिफायर का उपयोग किया जाता है। इस रेक्टिफायर की मदद से हमें डीसी करंट प्राप्त होता है। DC करंट से हम बैटरी चार्ज कर सकते हैं, तथा डीसी करंट से चलने वाले उपकरणों को चला सकते हैं।

बैटरी केवल 12 वोल्ट के ज्यादातर बनाए जाते है। परन्तु जितना वोल्ट  AC में होता है उतना ही DC में होता है और डीसी करंट एसी करंट की तुलना में ज्यादा खतरनाक और शक्तिशाली होता है।

Chandradeep Kumar

My Name is Chandradeep Kumar. I am the founder of www.fastduniya.com from India.

2 Comments

Please Post Positive Comments & Advice

Post a Comment
Previous Post Next Post