हिन्दी दिवस पर निबंध- Hindi Diwas Essay In Hindi

हम आज इस पोस्ट में हिन्दी दिवस पर निबंध पढेंगे। यह निबंध बहुत सरल भाषा में लिखा गया है।

भुमिका- 

समस्त विश्व में तरह-तरह के दिवस मनाए जाते हैं। ये दिवस इसलिए बनाए जाते हैं, क्योंकि इन दिवसों में कुछ महत्वपूर्ण घटनाएं घटित होती है, लोग दिवस मनाकर इन घटनाओं को याद करते हैं।

हिन्दी भाषा का महत्व-

हमारे भारत देश में 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। हिंदी विश्व में बोली जाने वाली प्रमुख भाषाओं में से एक भाषा है। हिन्दी भाषा भारत की राष्ट्भाषा होने के साथ-साथ झारखंड की राजभाषा भी है।

हिन्दी दिवस मनाने का कारण-

14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाए जाने के पीछे मुख्य बात यह है कि 14 सितंबर 1949 को भारतीय संविधान सभा ने एकमत से निर्णय लिया था कि हिंदी की खड़ी बोली है इसलिए भारत की राजभाषा हिन्दी होगी। इस महत्वपूर्ण निर्णय के महत्व को जन-जन तक पहुंचाने के लिए भारत में प्रतिवर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है।

हिन्दी भाषा की उपयोगिता-

भारत के अधिकांश स्कूलों में हिंदी भाषा अवश्य पढ़ाई जाती है। सदियों से लोगों की धारणा है कि हिंदी केवल निम्न वर्ग के लोगों की भाषा है और इससे रोजगार नहीं मिल सकता। यह धारणा आज के समय में अत्यंत पुरानी पड़ चुकी है आज टेक्नोलॉजी का विकास होने के कारण हिंदी में अपनी अलग पहचान बनाई है। आज तो हिंदी आधुनिक अपना स्थान बना चुकी है कि हिंदी भाषा के माध्यम से रोजगार नहीं प्राप्त किया जा सकता हिंदी भाषा के माध्यम से रोजगार प्राप्त किया जा सकता है लेकिन उसके पास होना जरूरी है आभार प्रकट करना हमारा कर्तव्य है।

हिन्दी भाषा का आदर-

कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक साक्षर से निरीक्षण तक हिंदी भाषा को सहज भाव से समझते हैं, स्वामी विवेकानंद से लेकर हमारे भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई विदेशों में हिंदी भाषा का परचम लहरा चुके, पर भी अत्यंत समृद्ध है किसी भी कार्य अथवा रोजगार में भाषा आध्या शक्ति बस इसके लिए व्यक्ति के अंदर आत्मविश्वास हौसला तथा योग्यता का होना जरूरी है आज हिंदी मीडिया से लेकर 7 तक गहरी पैठ बना चुकी है इसलिए हिंदी भाषा का सम्मान करें।

आशा है आप को hindi diwas per nibandh पसंद आया होगा और आपको समझ आया होगा।

Post a Comment

Please Post Positive Comments & Advice

Previous Post Next Post